हुड़किया बौल उत्तराखंड के लोकगीतों में पारम्परिक कृषि गीत या श्रम गीत माने जाते हैं। इसमे लोक वाद्य हुड़के को बजाने वाले व्यक्ति को हुड़किया

Read More

देश ,धर्म, जाती के लिए प्राण न्योछावर करने वाले वीरों की यादों को संजोए रखने और उनके नाम को अमर करने के लिए, उनकी याद

Read More

बाड़ी उत्तराखंड के पहाड़ी लोगो का खास भोज्य पदार्थ है। इसे खासकर पहाड़ के गरीब लोगों का सुपरफूड कहा जाता है। यह भोज्य पदार्थ बहुत

Read More
न्यौली

न्यौली उत्तराखंड के कुमाऊं में लोकगीत विधा के अंतर्गत, पर्वतीय वनों के मौन वातावरण में किसी विरही द्वारा एकांत में गाये जाने वाला एक ऐसा

Read More
छउवा या चीला

छउवा या चीला एक पहाड़ी मिष्ठ पाक्य भोज्य पदार्थ है। ऐसे खासकर शुभ कार्यों व् त्योहारों पर बनाया जाता है। कुमाऊं में कई स्थानों पर

Read More

शीर्षक :बैठ बाना मेरी घुगी में आज आपको सुनाते हैं, हमारे पनदा की कहानी ! वैसे पनदा अल्मोड़ा के सबसे विकसित विधानसभा से आने वाले

Read More

खाल और छीना का अर्थ – मित्रों हमारे उत्तराखंड में पहाड़ से लेकर मैदान तक सभी स्थानों के कुछ न कुछ नाम हैं। और ये

Read More
जटिया मसाण

यह लोक कथा धुमाकोट और गड़ी चम्पावती (चंपावत) की लोक कथा  है। इस प्रसिद्व लोक कथा के अनुसार भगवान गोरिया ने आतंकी जटिया मसाण का

Read More

जिस प्रकार हिन्दुओं के तीर्थ , काशी हरिद्वार और ऋषिकेश हैं। और इंसानों के अन्य धर्मो का तीर्थ और कई स्थान है। ठीक उसी प्रकार

Read More

नीम करोली बाबा के लाखो भक्त है। उनके भक्त भारत से विदेशो तक फैले हैं।  एप्पल के सीईओ से लेकर फेसबुक के संस्थापक जैसी हस्तियां

Read More