शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद जीव्यक्त करते हुए।
देश दुनिया

शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद जी का व्यक्तित्व देश, समाज तथा विश्व कल्याण के लिए अर्पित रहा- प्रो. वरखेड़ी

नई दिल्ली। केन्द्रीय संस्कृत विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो श्रीनिवास वरखेड़ी ने द्वारका शारदा पीठ के शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद जी के बह्मलीन होने पर विश्वविद्यालय परिवार की ओर से शोक संवेदना व्यक्त करते हुए। अपने शोक संदेश में वरखेड़ी ने कहा है कि स्वामी जी का पार्थिव शरीर भले ही हमारे बीच अब नहीं रहा। लेकिन […]

साहित्य अकादमी
देश दुनिया

साहित्य अकादमी संस्कृत बाल साहित्य पुरस्कार की घोषणा, प्रो. वरखेड़ी ने दी बधाई

नई दिल्ली। साल 2022 के लिए ‘साहित्य अकादमी संस्कृत बाल साहित्य पुरस्कार’ तथा ‘ साहित्य अकादमी युवा पुरस्कार’ की घोषणा कर दी गयी है। सीएसयू, दिल्ली के कुलपति प्रो श्रीनिवास वरखेड़ी ने प्रो कुलदीप शर्मा तथा श्रुति कानिटकर को क्रमश: उनकी संस्कृत कृति ‘सचित्रम् प्रहेलिकाशतकमïï्,(कविता,बाल साहित्य) तथा ‘श्रीमतीचरित्रम्'(कविता,युवा पुरस्कार) पर मिले राष्ट्र्रीय सम्मान के लिए […]

svarojagaar-kee-naee-pahal
स्वरोजगार

उत्तराखंड में लोगों ने की स्वरोजगार की नई पहल

उत्तराखंड में लोगों ने की स्वरोजगार की नई पहल उत्तराखंड में रोजगार के अवसर कम होने के कारण लोगो को अपनी जीविका चलने के लिए, अक्सर अपने गावों से बहार किसी दूर-दर्ज के शहरों में जाना पढता हैं। अपने परिवार को छोड़ कर मीलो दूर पैसे कमाने, रोजगार के लिए जाना ही पड़ता हैं। उत्तराखंड […]

uttarakhand-mai-prasidh-kharidari-k-samana
संस्कृति

उत्तराखंड में प्रसिद्ध खरीदारी के सामान

उत्तराखंड में प्रसिद्ध खरीदारी के सामान उत्तराखंड भारत में पहले से ही एक स्थापित पर्यटन स्थल है  जहाँ दुनिया भर से लोग ईथर सौंदर्य का अनुभव करने आते हैं। चाहे आप एक साहसिक उत्साही या आध्यात्मिक व्यक्ति हों, देवभूमि ’आपको असंख्य अनुभव प्रदान करती है। उत्तराखंड में खरीदारी एक और चीज है जिसका आप आनंद […]

Nainital
संस्कृति

शायद ही आप जानते होंगे पर्यटन नगरी नैनीताल की ये अद्भुत बातें।nainital

नैनीताल उत्तराखंड की विशेषता, nainital Uttrakhand नैनीताल उत्तराखंड (Nainital Uttrakhand) के सबसे खूबसूरत पर्यटन स्थलों में से है । जो उत्तराखंड का प्रसिद्ध हिल स्टेशन है। यूँ तो नैनीताल हर कोई घुमने आता है जो ना आया हो वो भी नैनीताल घुमने की चाहत रखता है। बेहद खूबसूरत झील नैनीताल जिसे देखने से मन प्रसन्न […]

jaageshvar dhaam jyotirling
मंदिर

शिव के बारह ज्योतिर्लिंगों में से एक – जागेश्वर धाम ज्योतिर्लिंग

शिव के बारह ज्योतिर्लिंगों में से एक जागेश्वर धाम ज्योतिर्लिंग    जागेश्वर  धाम  शिव के बारह ज्योतिर्लिंगों में से एक ज्योतिर्लिंग है। यह उत्तराखंड का सबसे बड़ा मंदिर समूह है। यह मंदिर कुमाउं मंडल के अल्मोड़ा जिले से 38 किलोमीटर की दुरी पर देवदार के जंगलो के बीच में स्थित है। जागेश्वर धाम केवल एक […]

maan-dunaagiree
मंदिर

दूनागिरी माता का भव्य मंदिर जहाँ गुरु द्रोणाचार्य ने की तपस्या || Dunagiri tample Uttrakhand in hindi

दूनागिरी मंदिर जहाँ गुरु द्रोणाचार्य ने की तपस्या( Dunagiri temple ) उत्तराखण्ड राज्य के अल्मोड़ा जिले के द्वाराहाट क्षेत्र से 15 km आगे मां दूनागिरी मंदिर (Dunagiri temple ) अपार आस्था का केंद्र है । कुमांऊँ क्षेत्र के अल्मोड़ा जिले में एक पौराणिक पर्वत शिखर का नाम है, द्रोण, द्रोणगिरी, द्रोण-पर्वत, द्रोणागिरी, द्रोणांचल, तथा द्रोणांचल-पर्वत […]

पाताल भुवनेश्वर गुफा
मंदिर संस्कृति

पाताल भुवनेश्वर गुफा | इतिहास | रहस्य | कलयुग के अंत का रहस्य | Patal bhuvaneshvar Cave temple

पाताल भुवनेश्वर गुफा मंदिर उत्तराखंड | Patal Bhuvaneshvar Cave Temple Uttrakhand पाताल भुवनेश्वर गुफा कहा है ? | Patal Bhuvaneshvar Cave temple in hindi भगवान शिव के बहुत से मंदिर व गुफाएं हैं, जो अपने आप मे चमत्कारी, ऐतिहासिक व रहस्यमयी हैं। ऐसी ही एक गुफा उत्तराखंड के गांव भुवनेश्वर में स्थित है।उत्तराखंड के पिथौरागढ़ […]

raashtreey-udyaan
इतिहास

भारत का सबसे पुराना राष्ट्रीय उद्यान जो बना खास बंगाल टाइगर के लिए

भारत का सबसे पुराना राष्ट्रीय उद्यान जो बना खास बंगाल टाइगर के लिए जिम कॉर्बेट राष्ट्रीय उद्यान भारत का सबसे पुराना राष्ट्रीय पार्क है। यह उत्तराखण्ड के नैनीताल जिले के रामनगर नगर के पास स्थित है। 1936 में बंगाल बाघ की रक्षा के लिए हैंली नेशनल पार्क के रूप में स्थापित किया गया था।भारत की स्वतंत्रता […]

govind ballabh pant
व्यक्तित्व संस्कृति

भारत रत्न से सम्मानित गोविन्द बल्लभ पन्त की जीवनी

भारत रत्न से सम्मानित पंडित गोविन्द बल्लभ पन्त की जीवनी भारत रत्न से सम्मानित पंडित गोविन्द बल्लभ पन्त का जन्म 10 सितम्बर 1887 को  उत्तराखंड के अल्मोड़ा जिला, के ग्राम खूंट, मे हुआ था। इनकी माँ का नाम गोविन्दी बाई और पिता का नाम मनोरथ पन्त था। बचपन में ही पिता की मृत्यु हो जाने […]