Wednesday, February 21, 2024
Homeदार्शनिक स्थलथकुली उडियार - एक ऐसी गुफा जिसके अंदर थाली बजने की आवाज...

थकुली उडियार – एक ऐसी गुफा जिसके अंदर थाली बजने की आवाज आती है।

देवभूमी उत्तराखंड को प्रकृति ने रमणीय सुंदरता के साथ स्थान स्थान पर कई रहस्मयी चीजें भी प्रदान की हैं। यहां एक से बढ़कर एक विशाल पर्वत शिखर सुन्दर बुग्यालों के साथ कई रहस्यों को समेटे एक से बढ़कर एक गुफाएं स्थित हैं। यहाँ पाताल भुवनेश्वर जैसी गुफा है जिसके बारे कहा जाता कि कलयुग के अंत का राज इसी गुफा में छुपा है। आज इस लेख में हम उत्तराखंड के अल्मोड़ा जिले में स्थित एक ऐसी ही रहस्य्मयी गुफा थकुली उडियार के बारे में रोचक जानकारी साँझा कर रहें हैं।

उत्तराखंड के अल्मोड़ा जिले के चौखुटिया से लगभग 13 किलोमीटर दूर मासी नामक स्थान से 6 किमी दूर उंचावाहन नामक गावं पड़ता है। यह गांव उत्तराखंड के सबसे ऊंचाई पर स्थित गावों में से एक है। यह आदर्श गांव है। प्राकृतिक सुंदरता से भरपूर यह गांव ,पहाड़ के आदर्श गावों में से एक गांव है। यहाँ के पूर्व प्रधान और वर्तमान प्रधान तथा ग्रामवासियों ने मिलकर गांव के विकास के लिए कई सराहनीय कार्य किए हैं।

ऊंचावाहन गावं में थकुली उडियार नामक एक गुफा है। यह गुफा प्यालेनुमा पत्थर से बनी है। यह गुफा गांव में आने वाले तथा अन्य पर्यटकों के लिए आकर्षण का केंद्र है। इस गुफा के ऊपर खड़े होकर हिमालय के नयनाभिराम दृश्यों का आनदं लिया जा सकता है। गुफा के ऊपर के पत्थर से मासी ,नैथान देवी ,जौरासी ,मनिला आदि जगहों का रमणीक दर्शन किया जा सकता है।

थकुली उडियार
फोटो साभार – अपना गावं उंचावाहन

इस गुफा की मुख्य विशेषता यह है कि ,जब इस गुफा के अंदर  हथेली से थपकी मारते हैं ,तब थाली बजने की आवाज आती है। थाली को कुमाउनी भाषा में थकुली कहते हैं और गुफा को उड़्यार इसलिए इस गुफा को थकुली उडियार कहा जाता है। स्थानीय लोगो के अनुसार इस उडियार से एक पौराणिक कथा जुडी है .. जब त्रेता युग में हनुमान जी संजीवनी बूटी के लिए समस्त द्रोणागिरी पर्वत को ले जा रहे थे ,तब उसमे से एक बड़ा पत्थर यहाँ आकर गिर गया जिससे इस गुफा का निर्माण हुआ। उंचावाहन गावं के निवासी प्रत्येक वर्ष स्वतन्त्रता दिवस और गणतंत्र दिवस के अवसर पर झंडारोहण करते हैं। अधिकतम ऊंचाई वाले इस स्थान पर  तिरंगा झंडा लहराते हुए बहुत सुन्दर लगता है।

Best Taxi Services in haldwani

इसके अलावा इस गावं में डमू उडियार नामक एक अन्य गुफा भी है। इस गुफा के पास छ ओखलियों का सेट वाला पत्थर भी स्थित है। उंचावाहन गांव में पर्यटन की अपार संभावनाएं है। यह गावं उत्तराखंड के बेहतरीन पर्यटन स्थलों में शुमार हो सकता है।

सोशल मीडिया पर उंचावाहन गांव के लोगो द्वारा संचालित एक फेसबुक पेज है ,उससे आप यहाँ के बारे में समय समय पर अधिक जानकारियां प्राप्त कर सकते हैं। हमने इस लेख में प्रयुक्त चित्र भी साभार इसी पेज से लिए हैं। पेज को लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

इसे भी पढ़े _ कुमाऊं की रोमांचक ऐतिहासिक लोक कथा ,स्यूराजी बोरा भ्यूराजी बोरा की कहानी

Follow us on Google News
Bikram Singh Bhandari
Bikram Singh Bhandarihttps://devbhoomidarshan.in/
बिक्रम सिंह भंडारी देवभूमि दर्शन के संस्थापक और लेखक हैं। बिक्रम सिंह भंडारी उत्तराखंड के निवासी है । इनको उत्तराखंड की कला संस्कृति, भाषा,पर्यटन स्थल ,मंदिरों और लोककथाओं एवं स्वरोजगार के बारे में लिखना पसंद है।
RELATED ARTICLES
spot_img
Amazon

Most Popular

Recent Comments