विंटर लाइन
राज्य

मसूरी विंटर लाइन कॉर्निवाल 2022 का शुभारंभ प्रकृति की अनोखी घटना को देखने देश भर से आते हैं सैलानी

आज माननीय मुख्यमंत्री श्री पुष्कर धामी जी ने मसूरी विंटर लाइन कॉर्निवालक 2022 का शुभारम्भ किया। मसूरी विंटर लाइन कॉर्निवाल प्रत्येक वर्ष दिसम्बर के अंत में मनाया जाता है। पहाड़ो की रानी मसूरी प्राकृतिक सौंदर्य से लबालब है। वहीं प्रत्येक वर्ष अक्टूबर से दिसंबर बीच होने वाली इस अद्भुत प्राकृतिक घटना मसूरी की सुंदरता में चार चाँद लगा देती है। यह कार्यक्रम 5 दिनों तक आयोजित किया जाता है। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि नैसर्गिक सौंदर्य से पूरित  देवभूमि उत्तराखण्ड का प्रत्येक क्षेत्र एक विशेष प्रकार की ऊर्जा लिए हुए है। नए वर्ष के आगमन के साथ मसूरी विंटर लाइन कार्निवाल का आयोजन देश-विदेश के पर्यटकों तथा विभिन्न राज्यों से आए लोक कलाकारों आदि के लिए आकर्षण का केंद्र बन गया है।

यहाँ सुनिए मुख्यमंत्री जी ने मसूरी विंटर लाइन कॉर्निवालक 2022 का शुभारम्भ के बाद क्या कहा !

क्या है विंटर लाइन  ?

विंटर लाइन शाम को मसूरी से दून घाटी के ऊपर दिखाई देने वाली सीधी लाल रेखा है। विशेषज्ञों के अनुसार शीतकालीन मौसम में मैदानी क्षेत्रों की धूल एक विशेष ऊंचाई के बाद समांतर सीधी रेखा में बदल जाती है। सायंकाल के समय धूलकण अधिक ऊपर उठने पर ,जब उसपर सूर्य की किरणे पड़ती है ,तो वह धूल के कण चमक उठते हैं। धूल के कण एक समांतर रेखा में होने के कारण एक रंगीन लाइन  दिखती है। यह नजारा मसूरी के अलावा चकराता और स्विजरलैंड , केपटाउन में दिखाई देता है। प्रत्येक वर्ष हजारों सैलानी इस मनोरम दृश्य को देखने और इसे अपने मोबाइल में कैद करने के लिए हजारों सैलानी यहाँ आते हैं।

कुछ सालो से उत्तराखंड सरकार सैलानियों के मनोरंजन के लिए Mussoorie Winter Line Carnival का आयोजन कर रही है।

फोटो साभार गूगल !

इन्हे भी पढ़े –

Mini Maldives in Uttarakhand :- मालदीव से कम बजट में, नए साल 2023 का जश्न मनाइये उत्तराखंड के मिनी मालदीव में !

कुमाऊं के वीर योद्धा स्यूंराजी बोरा और भ्यूंराजी बोरा की रोमांचक लोक कथा।