Wednesday, July 24, 2024
Homeसंस्कृतिलोकगीतउत्तराखंड के राजा - भोलेनाथ को समर्पित गीत के बोल (Uttarakhand ke...

उत्तराखंड के राजा – भोलेनाथ को समर्पित गीत के बोल (Uttarakhand ke raja lyrics in hindi)

भगवान शिव के पवित्र सावन माह में सभी भाषा संस्कृति के लोग अपनी-अपनी भाषा और संस्कृति में गीत बनाते हैं। अपने अन्दाज में भगवान शिव को प्रसन्न करने की कोशिश करते हैं। भगवान शिव का घर हिमालय कैलाश में है। और उत्तराखंड देवभूमि में भगवान शिव के कई चमत्कारी मन्दिर और उनका पावन धाम केदारनाथ है। हरियाणवी गायक गुलजार छिंदवाड़ा ने भगवान शिव को समर्पित एक भजन बनाया है, जिसके बोल हैं. “उत्तराखंड के राजा”। हालांकि यह भजन साल 2022 के सावन में रिलीज हो गया था। और यूट्यूब पर टॉप Five में रैंक भी किया था। अभी भी यह हरियाणवी गीत Uttarakhand Ke Raja trending में चल रहा है। लोग उत्तराखंड के राजा को बहुत पसन्द कर रहें हैं।

उत्तराखंड के राजा गीत के बारे मे

इस गीत को गाया है Gulzaar chhaniwala ने और इस गीत के लेखक भी Gulzaar chhaniwala है। इस गीत में संगीत दिया है khatri ने। गीत मे music Lable Speed Records का है।

उत्तराखंड के राजा गीत के बोल | Uttarakhand Ke Raja lyrics in hindi –

रै भोले रोला हो जाएगा,
जे डमरू तने बजाया ना ।
इतनी दूर हरयाणे ते,
मैं ड्रेक सुनन ने आया ना ।।
मुकुट पे चँदा, केश मे गंगा ।
डुबकी लगा ले, तन मन चंगा ।।
गल मे लटके, नाग मारे झटके,
रे डीजे पे आग लगा जा ।
हो उत्तराखंड के राजा।
नंदी ने लेके आजा ।
पवित्तर जल माँ गंगा,
मेरी नैया पार लगा जा ।
हो उत्तराखंड के राजा ,
नंदी ने लेके आजा ।
पवित्तर जल माँ गंगा ।
मेरी नैया पार लगा जा ।।
हो उत्तराखंड के राजा
भोले भोले …
तेरे फैन कसूते हरयाणा में
छोरे गामा के ।
पावे स्टीकर लागे,
गाड़ी पे तेरे नामा के ।
पावे स्टीकर लागे,
गाड़ी पे तेरे नामा के ।
केदारनाथ कोई अमरनाथ,
कोई हरिद्वार जानदा ।
ढूँढ ढूंड के थक गये ,
पर तने तरस नही आंदा ।।
जा करले नखरे,
तने असली इब ते टकरे।
आवे से झोले तगड़े,
पी के ने भंगिया ताज़ा ।
हो उत्तराखंड के राजा।
नंदी ने लेके आजा।
पवित्तर जल माँ गंगा,
मेरी नैया पार लगा जा ।
हो उत्तराखंड के राजा।
नंदी ने लेके आजा।
पवित्तर जल माँ गंगा,
मेरी नैया पार लगा जा ।
हो उत्तराखंड के राजा
भोले …
हर हर महादेव शिव शंभू!
हर हर महादेव!
हर हर महादेव शिव शंभू!
हर हर महादेव..
रे सावण आया बारिश होरी ।
हेटरा के खारिश होरी,
भोले की रे गोरा माता,
भांग की सिफारिश होरी ।
क्या करा बतावे भोले।
टैम जानदा जावे भोले।
कावडिया ने देख ले,
तेरे खतर से ये आवे भोले ।
शंभू आ जावेंगे रे अपने आप
हम तू बस एड्रेस दे दिए,
एक बार फेस तो फेस आके मिल ले।
रे चाहें जितना कॅश ले लिए।

इन्हे भी पढ़े: Friendship day – अनोखी परम्परा ! उत्तराखंड के इस जिले में पूरे विधि विधान से बनाते हैं दोस्त !

Best Taxi Services in haldwani

तने कितना प्यार करे छानिवाला
ना रे अंदाज़ा
हो उत्तराखंड के
हो उत्तराखंड के …
हो उत्तराखंड के राजा।
नंदी ने लेके आजा।
पवित्तर जल माँ गंगा
मेरी नैया पार लगा जा।
हो उत्तराखंड के राजा ।
नंदी ने लेके आजा ।
पवित्तर जल माँ गंगा,
मेरी नैया पार लगा जा ।
खत्री की बीट रे…
हो उत्तराखंड के राजा
भोले.. .

Follow us on Google News Follow us on WhatsApp Channel
Bikram Singh Bhandari
Bikram Singh Bhandarihttps://devbhoomidarshan.in/
बिक्रम सिंह भंडारी देवभूमि दर्शन के संस्थापक और लेखक हैं। बिक्रम सिंह भंडारी उत्तराखंड के निवासी है । इनको उत्तराखंड की कला संस्कृति, भाषा,पर्यटन स्थल ,मंदिरों और लोककथाओं एवं स्वरोजगार के बारे में लिखना पसंद है।
RELATED ARTICLES
spot_img
Amazon

Most Popular

Recent Comments