Thursday, February 22, 2024
Homeराज्यशुरू हो गया उत्तराखंड का लोक पर्व हरेला ! मुख्यमंत्री जी ने...

शुरू हो गया उत्तराखंड का लोक पर्व हरेला ! मुख्यमंत्री जी ने किया आगाज ! हरेला पर्व पर शुभकानाएं !

उत्तराखंड में हरेला पर्व की औपचारिक शुरुवात हो गई है। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने Harela festival के अवसर पर मुख्यमंत्री आवास परिसर में पौधरोपण किया।  वैसे पंचांग के अनुसार हरेला पर्व 17 जुलाई को मनाया  जायेगा। प्रकृति का संरक्षण व् संवर्धन का सन्देश देने वाले इस लोक पर्व के अवसर पर उत्तराखण्ड के विभिन सरकारी और गैर सरकारी संगठन ,संस्थाएं व्यापक रूप से वृक्षारोपण कर रही हैं।

Harela festival उत्तराखंड का एक प्रसिद्ध लोक पर्व है। हरेला पर्व प्रकृति को समर्पित लोकपर्व या त्यौहार है। उत्तराखंड का हरेला पर्व प्रतिवर्ष कर्क संक्रांति को मनाया जाता है। वर्ष 2023 में harela festival 17 जुलाई को मनाया जायेगा। यह पर्व मुख्यतः उत्तराखंड के कुमाऊं मंडल में अधिक मनाया जाता है। पुरे वर्ष भर कुमाऊं मंडल में तीन प्रकार के हरेले मनाये जाते हैं।

Harela festival 2023
हरेला की शुभकामनाएं

लेकिन उत्तराखंड के चौमास यानि जुलाई में मनाये जाने वाले हरेला त्यौहार का विशेष महत्व होता है। इस दिन से पहाड़ियों ( पहाड़ के निवासियों ) सावन शुरू हो जाते हैं। हिमाचल ,नेपाल  और उत्तराखंड के लोगों के सावन ठीक हरेले के दिन से लगते हैं। क्योंकि पहाड़ियों के पंचांग में माह संक्रांति से बदलते हैं । इसलिये पहाड़ियों के सावन हरेला के दिन से शुरू होते हैं।

Harela festival की दस दिन पूर्व हो जाती है शुरुआत -:

हरेला से दस दिन पहले घर के मंदिर के पास 7 प्रकार के मिक्स अनाज बो दिए जाते हैं । इन अनाजों की दस दिन तक देखभाल की जाती है। और दसवें दिन पंडितजी की उपस्थिति में इनको काट कर इनका पूजन किया जाता हैं। और यह कटा हुआ हरेला कुलदेवों को चढ़ाया जाता है। उसके बाद परिवार और रिश्तेदारों को प्रसाद के तौर पर बांटा जाता है। Harela festival के दिन लोक पकवान बनते हैं। नवविवाहिता महिलाएं अपने मायके हरियाली लेकर जाती हैं।

Harela festival 2023
हरेला पर्व की शुभकामनाएं फ़ोटो।

प्रकृति की रक्षा को समर्पित है हरेला पर्व –

Best Taxi Services in haldwani

Harela parv  प्रकृति की रक्षा को समर्पित लोक पर्व है। पहाड़ के लोग प्रकृति का आभार व्यक्त करने के लिए  Harela festival मनाते हैं। वृक्षारोपण पर जोर दिया जाता है। हरेला के दिन सरकार और विभिन्न सरकारी और गैर सरकारी संस्थाएं वृक्षारोपण अभियान चलाती हैं।

 हरेला की शुभकामनाएं भेजने के लिए Harela festival Image यहां download कर सकते हैं –

आजकल के चलन के अनुसार हरेला पर्व पर लोग हरेला की पत्तियों की शुभकामनाएं देने के साथ वर्चुवल शुभकामनाएं भी देते हैं। लोग एक दूसरे को Harela photo भेजते हैं । Harela festival Image download  करने के लिए आप हमारी पोस्ट की सहायता ले सकते हैं। हरेला की हार्दिक शुभकामनाएं फ़ोटो के लिए यहाँ क्लिक करें ।हरेला की हार्दिक शुभकामनाएं फ़ोटो के लिए यहाँ क्लिक करें ।

Harela festival
हरेला पर्व 2023 फ़ोटो

हरेला त्योहार 2023 से संबंधित अन्य आर्टिकल :-

हमारे व्हाट्सप ग्रुप से जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें।

 

 

Follow us on Google News
Bikram Singh Bhandari
Bikram Singh Bhandarihttps://devbhoomidarshan.in/
बिक्रम सिंह भंडारी देवभूमि दर्शन के संस्थापक और लेखक हैं। बिक्रम सिंह भंडारी उत्तराखंड के निवासी है । इनको उत्तराखंड की कला संस्कृति, भाषा,पर्यटन स्थल ,मंदिरों और लोककथाओं एवं स्वरोजगार के बारे में लिखना पसंद है।
RELATED ARTICLES
spot_img
Amazon

Most Popular

Recent Comments