Wednesday, June 19, 2024
Homeसमाचार विशेषचन्तरा देवी जिन्होंने 61 वर्ष में पढ़ाई शुरू करके,नई मिसाल पेश की...

चन्तरा देवी जिन्होंने 61 वर्ष में पढ़ाई शुरू करके,नई मिसाल पेश की है।

कहते हैं पढ़ने की कोई उम्र नहीं होती है , बस आपके अंदर पढाई की ललक होनी चाहिए। इसी कहावत सत्य साबित किया है नेपाल की चन्तरा देवी जी ने।  चन्तरा देवी नेपाल बैतड़ी जिले की रहने वाली है जो  सीमावर्ती पिथौरागढ़ जिले के पास में है। 61 वर्ष की बुजुर्ग अपने नाती नातिन के साथ रोज स्कूल जाती है। और पहली क्लास में बैठ कर पढाई भी करती है।

उस स्कूल की अध्यापिका के अनुसार स्वर व्यंजनों का ज्ञान और कविताये पढ़ना और अपना नाम लिखना सीख लिया है। वे स्कूल के बच्चों के साथ सभी गतिविधियों में उत्साहपूर्वक भाग लेती हैं। स्कूल प्रबंधन की ओर से उनके लिए कॉपी किताब और पेन्सिल की व्यवस्था कराई गई है। प्रधानचार्य और सभी अध्यापक बुजुर्ग दादी को पढाई के लिए पूरा सहयोग दे रहे हैं।

उत्तराखंड के सीमावर्ती जिला पिथौरागढ़ के पास नेपाल के बैतड़ी में रहने वाली चंतरा देवी अपने नाती -नातिनों को रोज स्कूल छोड़ने जाती थी। रोज स्कूल जाते जाते उसके मन में भी स्कूल प्रति मोह उत्पन होने लगा। उसका मन भी पढाई करने को करने लगा। जब उस स्कूल के अध्यापको को पता चला की चंतरा देवी पढाई करना चाहती है तो उन्होंने तुरंत बुजुर्ग को क्लास में भर्ती कर पढाई की आवश्यक चीजों की व्यवस्था कर दी।

चन्तारा देवी कहती हैं कि उन्हें समय रहते पढाई ना कर पाने का दुख़ है। लेकिन अब वे जहाँ तक हो सकेगा पूरी पढाई करेंगी। अपने जीवन में सभी को पढाई करनी चाहिए। और पढाई के महत्व को समझना चाहिए।

Best Taxi Services in haldwani

हमारी अन्य पोस्ट पढ़े –

Follow us on Google News Follow us on WhatsApp Channel
Pramod Bhakuni
Pramod Bhakunihttps://devbhoomidarshan.in
इस साइट के लेखक प्रमोद भाकुनी उत्तराखंड के निवासी है । इनको आसपास हो रही घटनाओ के बारे में और नवीनतम जानकारी को आप तक पहुंचना पसंद हैं।
RELATED ARTICLES
spot_img
Amazon

Most Popular

Recent Comments