Saturday, April 20, 2024
Homeकुछ खासशैलेश मटियानी राज्य शैक्षिक पुरस्कार: शिक्षा के क्षेत्र में उत्कृष्टता का प्रतीक

शैलेश मटियानी राज्य शैक्षिक पुरस्कार: शिक्षा के क्षेत्र में उत्कृष्टता का प्रतीक

शैलेश मटियानी राज्य शैक्षिक पुरस्कार (Shailesh Matiyani State Educational Award) उत्तराखंड राज्य सरकार शिक्षकों के योगदान को सम्मानित करने के लिए प्रदान करती है। शिक्षक, समाज का स्तंभ, ज्ञान का दीप, और राष्ट्र निर्माण का आधार। शिक्षकों के अथक प्रयासों और समर्पण से ही राष्ट्र का भविष्य उज्ज्वल होता है। इसलिए यह पुरस्कार शिक्षा के क्षेत्र में उत्कृष्ट योगदान देने वाले शिक्षकों को सम्मानित करने के लिए दिया जाने वाला एक प्रतिष्ठित पुरस्कार है। यह पुरस्कार 2008 में स्थापित किया गया था और इसका नाम राज्य के प्रख्यात शिक्षाविद् और सामाजिक कार्यकर्ता श्री शैलेश मटियानी के नाम पर रखा गया था।

शैलेश मटियानी राज्य शैक्षिक पुरस्कार के बारे में:

  1. कौन दे रहा है: उत्तराखंड राज्य सरकार
  2. कब स्थापित हुआ: 2008
  3. किसके नाम पर: श्री शैलेश मटियानी (प्रख्यात शिक्षाविद् और सामाजिक कार्यकर्ता)
  4. पुरस्कार की संख्या: हर साल 17
  5. श्रेणियाँ:
    1. प्रारंभिक शिक्षा (11 पुरस्कार)
    2. माध्यमिक शिक्षा (5 पुरस्कार)
    3. शिक्षक प्रशिक्षण संवर्ग (1 पुरस्कार)

पुरस्कार का स्वरूप:

  • प्रशस्ति पत्र
  • 25,000 रुपये का नकद पुरस्कार
  • दो साल का सेवा विस्तार (वैकल्पिक)

इसे पढ़े : 17 शिक्षकों को मिलेगा शैलेश मटियानी राज्य शैक्षिक पुरस्कार 2023

पुरस्कार के लिए पात्रता:

  • उत्तराखंड राज्य में सरकारी/अर्ध-सरकारी/निजी विद्यालयों में कार्यरत शिक्षक
  • शिक्षा के क्षेत्र में कम से कम 10 वर्ष का अनुभव
  • उत्कृष्ट शिक्षण और नवाचार
  • छात्रों की शैक्षिक और सामाजिक उन्नति में महत्वपूर्ण योगदान
  • विद्यालय/समाज में सकारात्मक बदलाव लाने में महत्वपूर्ण भूमिका

पुरस्कार चयन प्रक्रिया:

  1. राज्य शिक्षा विभाग द्वारा एक चयन समिति गठित की जाती है।
  2. समिति विभिन्न मापदंडों के आधार पर उम्मीदवारों का चयन करती है।
  3. चयनित उम्मीदवारों को पुरस्कार समारोह में सम्मानित किया जाता है।

शैलेश मटियानी राज्य शैक्षिक पुरस्कार का महत्व:

  • शिक्षकों को प्रेरित करने और शिक्षा के प्रति उनके समर्पण को बढ़ावा देने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।
  • शिक्षकों के उत्कृष्ट कार्यों को मान्यता प्रदान करता है।
  • शिक्षा के क्षेत्र में गुणवत्ता और नवाचार को बढ़ावा देता है।
  • छात्रों को प्रेरणा देता है और शिक्षा के प्रति उनका रुझान बढ़ाता है।

यह पुरस्कार शिक्षा के क्षेत्र में एक महत्वपूर्ण योगदान है। यह पुरस्कार शिक्षकों को प्रेरित करता है और उन्हें शिक्षा के क्षेत्र में उत्कृष्टता प्राप्त करने के लिए प्रोत्साहित करता है।

Follow us on Google News Follow us on WhatsApp Channel
Pramod Bhakuni
Pramod Bhakunihttps://devbhoomidarshan.in
इस साइट के लेखक प्रमोद भाकुनी उत्तराखंड के निवासी है । इनको आसपास हो रही घटनाओ के बारे में और नवीनतम जानकारी को आप तक पहुंचना पसंद हैं।
RELATED ARTICLES
spot_img
Amazon

Most Popular

Recent Comments