Sunday, April 21, 2024
Homeराज्यउत्तराखंड में विवाह पंजीकरण को डिजिटल माध्यम से सुगम बनाने की तैयारी

उत्तराखंड में विवाह पंजीकरण को डिजिटल माध्यम से सुगम बनाने की तैयारी

देहरादून: उत्तराखंड में विवाह पंजीकरण को अनिवार्य बनाने की प्रक्रिया तेजी से आगे बढ़ रही है। समान नागरिक संहिता के तहत इस कदम को अमल में लाने के लिए नियमावली की तैयारी शुरू हो गई है। इसके तहत, ज्यादातर कार्य डिजिटल माध्यम से किए जाएंगे। सूत्रों के मुताबिक, डिजिटल इंडिया के तहत उत्तराखंड में विवाह पंजीकरण को डिजिटल माध्यम से सुगम बनाने की तैयारी जा रही हैं। नई नियमावली में विवाह पंजीकरण के लिए पोर्टल या ऐप के उपयोग को सरल बनाया जा सकता है। पूर्व मुख्य सचिव शत्रुघ्न सिंह की अध्यक्षता वाली कमेटी की पहली बैठक 24 फरवरी को देहरादून में होने जा रही है। इस कदम के तहत, ग्रामीण स्तर पर पंचायत सचिव और नगर निकाय स्तर पर प्राधिकृत अधिकारियों को भी जिम्मेदारी दी जा सकती है। अब विवाह पंजीकरण को स्वैच्छिक नहीं माना जाएगा, बल्कि यह अनिवार्य हो जाएगा।

Hosting sale

किसी भी अपराधिक गतिविधि और अस्वीकृत विवाहों को रोकने में भी यह कदम महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा। इसके अलावा, यह विवाह पंजीकरण प्रक्रिया को और सुगम और तेज बनाने में मदद करेगा। कमेटी ने यूसीसी को लागू करने के लिए भी खाका खींच लिया है, जिससे नई नियमावली को लागू करने में ज्यादा समय नहीं लगेगा।

इसे पढ़े : भारत का वो रहस्यमयी गांव जहां हर साल हजारों पक्षी ख़ुदकुशी करते हैं।

यह कदम प्रदेश के सामाजिक और कानूनी संरचना को मजबूत करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा और लोगों को विवाह पंजीकरण प्रक्रिया में सुगमता प्रदान करेगा।

Follow us on Google News Follow us on WhatsApp Channel
Pramod Bhakuni
Pramod Bhakunihttps://devbhoomidarshan.in
इस साइट के लेखक प्रमोद भाकुनी उत्तराखंड के निवासी है । इनको आसपास हो रही घटनाओ के बारे में और नवीनतम जानकारी को आप तक पहुंचना पसंद हैं।
RELATED ARTICLES
spot_img
Amazon

Most Popular

Recent Comments