Wednesday, July 24, 2024
Homeमंदिरबुद्धा टेम्पल देहरादून में घूमने लायक प्रसिद्ध दार्शनिक एवं आध्यात्मिक स्थल है

बुद्धा टेम्पल देहरादून में घूमने लायक प्रसिद्ध दार्शनिक एवं आध्यात्मिक स्थल है

Budha Temple Dehradun

बुद्धा टेम्पल देहरादून

वैसे तो देहरादून में घूमने लायक बहुत अच्छे स्थान हैं। मगर यदि आप देहरादून में कुछ अलग ढूढ़ रहे हैं, तो आपके लिए देहरादून का प्रसिद्ध बुद्ध मंदिर सबसे अच्छा विकल्प रहेगा। इसे सामान्य प्रचलित भाषा मे देहरादून का बुद्धा टेम्पल कहते हैं। यहाँ आकर आपको आध्यात्मिक शांति का अनुभव होगा और, बौद्ध कला और स्थापत्य कला का यह मंदिर बेजोड़ नमूना है।

देहरादून क्लेमनटाउन में स्थित बुद्धा टेम्पल का निर्माण 1965 में शुरू हुआ था, और इसके निर्माण को लगभग  3 साल लगे थे। इस प्रसिद्ध बुद्ध मंदिर का निर्माण कोहेन रिनपोछे नामक बौद्ध भिक्षु ने अन्य भिक्षुओं के साथ मिलकर कराया था। देहरादून के इस प्रसिद्ध बौद्ध मठ की वास्तुकला मूलतः जापानी वास्तुकला से प्रेरित है।

बुद्धा टेम्पल (Buddha temple) एशिया का सबसे बड़ा रोलिंग मिन्ड्रोलिंग मोनेस्ट्री (Mindroling Monastery) भी कहते हैं। अर्थात एशिया का सबसे बड़ा बौद्ध मठ है। यहाँ विश्व के सबसे बड़े बौद्ध स्तूपों में से एक प्रसिद्ध स्तूप स्थित है। इस बौद्ध स्तूप का निर्माण 28 अक्टूबर 2002 में किया गया था। यह बुद्धा टेम्पल दो एकड़ के बाग में फैला हुआ है। इस बौद्ध मठ की ऊंचाई 185 वर्ग फुट और चौड़ाई 100 फुट है। यह  मिन्ड्रोलिंग मठ विश्व के 6 प्रसिद्ध मिन्ड्रोलिंग मठो मे से एक है। यह मठ तिब्बती सम्प्रदाय के चार प्रमुख विद्यालयों में से एक है, इसे निगमा भी कहते हैं। तिब्बती सम्प्रदाय के अन्य तीन स्कूलों को क्रमशः शाक्य ,काजुयू, तथा गेलुक कहा जाता है।

बुद्धा टेम्पल देहरादून में भगवान बुद्ध की 103 फ़ीट की मूर्ति प्रमुख आकर्षण का केंद्र है। भगवान बुद्ध की मूर्ति के साथ गुरु पद्मसंभव जी की मूर्ति भी स्थापित है।  इस बुद्ध मंदिर में लगभग 500 बौद्ध लामा शिक्षा दीक्षा प्राप्त करते हैं। यह बुद्ध मंदिर पांच मंजिला मंदिर है। पहले 3 मंजिलों पर , भगवान बुद्ध के जीवन से संबंधित चित्रकारी तथा, तिब्बती धर्म से संबंधित कला कारी की गई है। इन चित्रों को 50 कलाकारों ने मिलकर बनाया है।

Best Taxi Services in haldwani

बुद्धा टेम्पल देहरादून का आकर्षण का केंद्र इसकी चौथी मंजिल है। यहाँ से आप देहरादून शहर की खूबसूरती को 360 के कोण से देख सकतें हैं। वर्तमान में बुद्ध मंदिर देहरादून की चौथी मंजिल पर जाना प्रतिबंधित कर दिया गया है। मगर इसके अलावा भी इस प्रसिद्ध बुद्धा टेम्पल में करने के लिए बहुत कुछ है। 2020 में यहाँ कांच के म्यूजियम में गाड़ी में बैठे, तिब्बती धर्मगुरु दलाई लामा की मूर्ति लगाई है। बताया गया कि हिमाचल प्रवास के दौरान इस कार का प्रयोग करते थे, इस पर नंबर भी हिमाचल का ही है।

बुद्धा टेम्पल देहरादून

इसे भी पढ़े – रानीख़ेत उत्तराखंड  का प्रसिद्ध हिल स्टेशन

बुद्धा मंदिर देहरादून में की जाने वाली गतिविधियां –

देहरादून में घूमने लायक प्रसिद्ध स्थानों में से बुद्धा टेम्पल देहरादून ( Buddha temple Dehradun ) सबसे बेस्ट लगता है। यहाँ आकर आप निम्नलिखित गतिविधियों द्वारा बुद्ध मंदिर देहरादून में आनन्द ले सकते हैं।

  • बुद्ध मंदिर देहरादून एक मधुर और आध्यात्मिक शांति वाला स्थल है। यहाँ आकर मन मे सुकून मिलता है।
  • यह मंदिर अपनी अदभुत स्थापत्य कला के लिए प्रसिद्ध है। यहाँ की स्थापत्य कला जापानी कला से प्रेरित है। यहां आप इस प्रसिद्ध स्थापत्य कला और चित्रकला का आनन्द ले सकते हैं।
  • यह बौद्ध मठ रोलिंग मठ के नाम से प्रसिद्ध है, यहाँ बड़े बड़े रोलर लगे हैं, जिनको घुमा कर आप भगवान बुद्ध से जीवन मे सुख और शांति की कामना कर सकते हैं।
  • बुद्धा टेम्पल देहरादून में आप प्रसिद्ध तिब्बती भोजन विशेष मोमोज, चाउमीन और थोप्पा और अन्य पकवानों का आनन्द ले सकते हैं।
  • बुद्ध मंदिर देहरादून से आप तिब्बती समान, कपड़े, सजावट की चीजे खरीद सकते हैं।

उत्तराखंड की एक ऐसी परम्परा जिसमे दो लोगो को सात जन्म की दोस्ती के बंधन में बांधा जाता है।

बुद्धा टेम्पल देहरादून कैसे जाएं –

बुद्धा टेम्पल देहरादून अंतरराज्यीय बस अड्डा देहरादून (ISBT ) से मात्र 4 किलोमीटर दूरी पर देहरादून सहारनपुर, दिल्ली मार्ग में क्लेमनटाउन नामक स्थान पर स्थित है। यदि आप बस से देहरादून आ रहे हैं तो आपको बुद्ध मंदिर जाने के लिए, ISBT से टेक्सी से आसानी से जा सकते हैं। या देहरादून में चलने वाले सार्वजनिक ऑटो, बैटरी रिक्शा, या विक्रम से मात्र 10 से 30 रुपये खर्च करके , इस प्रसिद्ध बौद्ध मठ देहरादून में पहुच सकते हैं।

यदि आप देहरादून बाई एयर आ रहे हैं, तो देहरादून एयरपोर्ट जौलीग्रांट से बुद्धा टेंपल देहरादून लगभग 33 किमी होगा, और टैक्सी से 50 से 60 मिनट लग जाएंगे।

Follow us on Google News Follow us on WhatsApp Channel
Bikram Singh Bhandari
Bikram Singh Bhandarihttps://devbhoomidarshan.in/
बिक्रम सिंह भंडारी देवभूमि दर्शन के संस्थापक और लेखक हैं। बिक्रम सिंह भंडारी उत्तराखंड के निवासी है । इनको उत्तराखंड की कला संस्कृति, भाषा,पर्यटन स्थल ,मंदिरों और लोककथाओं एवं स्वरोजगार के बारे में लिखना पसंद है।
RELATED ARTICLES
spot_img
Amazon

Most Popular

Recent Comments