व्यक्तित्व समाचार विशेष

रानीखेत का पंकज नेगी मदद कर रहा है,गरीब बच्चों को उनके भविष्य तराशने में | Rohit Foundation of Pankaj Negi

पंकज नेगी वैसे तो पेशे से सॉफ्टवेयर इंजीनियर हैं। मगर उन्होने ने महसूस किया कि हमारे पहाड़ में गरीबी और सही साधन और मार्गदर्शन समय पर नही मिलने के कारण कई होनहार बच्चे आगे नही बड़ पाते हैं। उनका भविष्य अंधकारमय हो जाता है,और सपने धरे के धरे रह जाते हैं। इसी समस्या के समाधान की कोशिश के लिए पंकज ने Rohit foundation की स्थापना की है।

पंकज नेगी उत्तराखंड अल्मोड़ा जिले के रानीखेत तहसील में पडने वाला गांव धुराफाट, मण्डलकोट के रहने वाले है। पंकज नेगी ने देहरादून के प्रतिष्ठित कॉलेज से सॉफ्टवेयर इंजीनियर की डिग्री हासिल की है। वर्तमान में वो पेशे से इंजीनियर हैं।पंकज नेगी ने प्राम्भिक शिक्षा अपने गांव से ही कि है। इसलिए वो भलीभांति जानते हैं, कि गांव के बच्चों को अपने भविष्य को तराशने में कितनी परेशानी होती है।

 पहाड़ी को पहाड़ की याद दिलाता है, कंचन जदली का लाटी आर्ट | Kanchan jadli Lati art

गांव के गरीब पृष्ठभूमि के बच्चों को अपने भविष्य तराशने में कोई परेशानी ना हो, प्रतियोगिता परीक्षा की तैयारी के लिए उन्हें सही संसाधन और सही मार्गदर्शन समय पर मिले, और उन्हें आधुनिक शिक्षा के बारे में तथा सही कैरियर कॉउंसलिंग समय पर मिले ,इन सब बातों को ध्यान में रख के,तथा इन समस्याओं के निवारण की प्रतिबद्धता के साथ सोमवार 21 मार्च 2021 को Rohit foundation  की स्थापना की गई।

Rohit Foundation
Rohit Foundation के शुभ शुरुवात के शुभवासर पर

Rohit Foundation ने स्थापना के शुभवासर पर सर्वप्रथम मण्डलकोट गांव के राजकीय इंटर कालेज में वहाँ के 10 वी एवं 12 वी के छात्र छात्राओं को परीक्षा किट दी गई । इस परीक्षा किट का प्रयोग छात्र छात्राएं अपने आने वाली बोर्ड परीक्षाओं में कर सकेंगे।

तथा छात्र छात्राओं को Rohit foundation की प्रतिबद्धता और उनके आने वाले कैरियर कॉउंसलिंग के बारे में बताया गया।

इसे भी देखे …कहानी जनरल बकरा बैजू की, जिसने बचाई गढ़वाल राइफल्स के सैनिकों की जान |Janaral bakara baiju story in hindi

इस शुभवासर के साक्षी , अध्यक्ष सरिता नेगी जी,प्रधानाचार्य रामपूजन यादव जी ,पुष्कर सिंह जी ,सुंदर करायत जी , प्रमोद भाकुनी जी,वीरेन्द्र बिष्ट जी,खुशाल बिष्ट जी,देवेंद्र बिष्ट जी,दीपक नेगी जी, दीपक मेहरा जी,अंकित मेहरा जी,गगन जी, हेमंत जी और क्षेत्रवासी और अभिवावक उपस्थित थे।