Thursday, May 30, 2024
Homeराज्यजल प्रहरी सम्मान से सम्मानित हुए उत्तराखंड के दो पर्यावरण प्रेमी

जल प्रहरी सम्मान से सम्मानित हुए उत्तराखंड के दो पर्यावरण प्रेमी

आज दुनिया ग्लोबल वार्मिंग जैसी भयावह स्थिति का सामना कर रही है ऐसे में सबसे ज्यादा जरूरी है पर्यावरण संरक्षण की, उसके लिए हम सभी को मिलकर पर्यावरण संरक्षण के लिए काम करने की आवश्यकता है। हाल ही में भारत सरकार के जल शक्ति मंत्रालय और उसकी सहयोगी संस्था सरकारटेल के सहयोग से महाराष्ट्र में एक सम्मेलन का आयोजन किया गया था जिसमें आने वाले जल संकट और उसके संरक्षण को लेकर गहन चर्चा हुई।

Hosting sale

इस दौरान अन्य देशो से आए हुए विशेषज्ञ वैज्ञानिकों की टीम ने जल संकट को एक भयानक वैश्विक संकट मानते हुए इसके समाधान के लिये अपने कुछ सुझाव दिए तथा दुनिया भर में हो रहे ग्लोबल वार्मिंग व पेयजल के संकट से निपटने के लिए दुनियाभर की नई-नई तकनीकों और भारत द्वारा इस दिशा में उठाये जा रहे अनेकों सकारात्मक कदमों पर भी खूब चर्चा हुई। इस दौरान कन्याकुमारी से लेकर कश्मीर तक के आए आए हुए 52 जल पर्यावरणविदों को जल प्रहरी सम्मान से से सम्मानित भी किया गया। जिसमें हमारे उत्तराखंड के नैनीताल जिले से ओखलकांडा निवासी चंदन सिंह नयाल व अल्मोड़ा जिले के शिव कुमार उपाध्याय का नाम भी शामिल है।

जल प्रहरी

जल प्रहरी – शिव कुमार उपाध्याय

जलागम विभाग अल्मोड़ा के उप परियोजना निदेशक डाॅ० शिव कुमार उपाध्याय जी को महाराष्ट्र में आयोजित कार्यक्रम में उनके द्वारा किए गए अनुकरणीय कार्यों के लिए ‘जल प्रहरी सम्मान’ से सम्मानित किया गया। जोकि पूरे प्रदेश के लिए गर्व की बात है। हम डाॅ० शिव कुमार उपाध्याय जी को इस सम्मान के लिए बधाईयाँ देते हैं।

Best Taxi Services in haldwani

जल प्रहरी

इन्हे भी पढ़े: लाल चावल में होता है भरपूर पोषण। जानिए इसके बेमिसाल फायदे।

चन्दन सिंह नयाल जी

नैनीताल जिले के ओखलकांडा ब्लाक, तोक चामा निवासी पर्यावरण प्रेमी चन्दन सिंह नयाल को भी उनके द्वारा बनाए गए 3200 से अधिक चालखाल और 53000 से ज्यादा पेड़ लगाने के अनुकरणीय कार्यों के लिए जल प्रहरी सम्मान से सम्मानित किया गया। चन्दन सिंह नयाल द्वारा किए गए कार्यों के लिए उन्हें पहले भी कई बार सम्मानित किया जा चुका है।

Follow us on Google News Follow us on WhatsApp Channel
Bikram Singh Bhandari
Bikram Singh Bhandarihttps://devbhoomidarshan.in/
बिक्रम सिंह भंडारी देवभूमि दर्शन के संस्थापक और लेखक हैं। बिक्रम सिंह भंडारी उत्तराखंड के निवासी है । इनको उत्तराखंड की कला संस्कृति, भाषा,पर्यटन स्थल ,मंदिरों और लोककथाओं एवं स्वरोजगार के बारे में लिखना पसंद है।
RELATED ARTICLES
spot_img
Amazon

Most Popular

Recent Comments