संस्कृति

उत्तराखंड का पवनदीप राजन ने जीता इंडियन आइडियल 2021। Pawandeep Rajan won Indian Ideal grand finale 2021

Pawandeep Rajan Uttrakhand ,पवनदीप राजन उत्तराखंड

इंडियन आइडियल 2021 जीत गया पवनदीप राजन –

एक के बाद एक धमाके दार परफॉर्मेंस के बाद, आखिर 15 अगस्त 2021 के दिन , इंडियन आइडियल के ग्रैंड फिनाले में पवनदीप राजन ने फाइनल जीत कर उत्तराखंड का नाम रोशन कर दिया । पवनदीप राजन जीत गया 2021 का इंडियन आइडियल । इंडियन आइडल 12 में पवन दीप राजन ने गजब की परफॉर्मेंस दी। उनके चाहने वाले फैन ,कल से उनके लिए वोट कर रहे थे। पवनदीप राजन को एक चमचमाती कार के साथ मिले 25 लाख का इनाम।

आइये जानते है ,संशिप्त में उनके इस विजयी सफर और उनके जीवन के बारे में ..

पवनदीप राजन उत्तराखंड के चम्पावत के रहने वाले हैं।पवन का जन्म 1996 में वल्चौड़ा गांव गुमदेश पट्टी में हुआ था।

वो बचपन से ही संगीत के लगभग सभी वाद्य यंत्रों को प्रयोग करना सीख गया था।पवनदीप राजन  ने उत्तराखंड के लोक गीत के अलावा पंजाबी हरियाणवीं आदि अन्य भाषाओं में भी, संगीत में योगदान दिया है। पवनदीप राजन ने 2015 में  वॉइस ऑफ इंडिया में प्रथम स्थान प्राप्तकिया था। पवनदीप को बचपन से ही अपनी संस्कृति  से लगाव रहा है।

पवनदीप राजन

फ़ोटो साभार -गूगल

इसे पढ़े- उत्तराखंड का सबसे प्राचीनतम सूर्य मंदिर, कटारमल अल्मोड़ा

वाईस ऑफ इंडिया में जज उषा उथुप जी के कहने पर उसने पहाड़ी गीत  प्यारी जन्मभूमि मेरो पहाड़ा गा कर,पहाड़ का नाम रोशन कर दिया। कठिन  संघर्ष एवं मेहनत की बदौलत, वो देश के सबसे बड़े रियल्टी शो इंडियन आइडियल में पहुँच गया । और वहाँ उसने रोज एक के बाद एक धमाके दार परफॉर्मेंस देना शरू किया,उसने कभी जजों को अपने सम्मान में खड़ा करवा दिया, कभी उनके आसूँ आ गए। बात करे उनकी पहली पियानों वाली परफॉर्मेंस की , जिसे देखकर जज नेहा कक्कर , विशाल डडलानी ,एवं हिमेश रेशमिया देखते रह गए।  दूसरी परफॉर्मेंस में पवन ने अपना गिटार का कौशल दिखाया, मगर उससे पहले, पवनदीप ने कुछ ऐसा किया कि हर उत्तराखण्डी का दिल गर्व से गदगद हो गया। पवनदीप की गिटार वाली परफॉर्मेंस शुरू होने से पहले , उत्तराखंड का लोक मांगल गीत गाकर हर उत्तराखण्डी का दिल जीत लिया।

इसके अगले एपिसोड में भी उन्होंने धमाके दार जुगलबंदी परफॉर्मेंस दी, जिसमे उन्होंने अपने ढोलक वादन का हुनर दिखाकर ,एक बार फिर सभी जजों को आश्चर्य चकित कर दिया। इस परर्फोमेंस से पहले एक ध्यान देने वाली घटना हुई, यहाँ पर फिर से पवनदीप ने अपने संस्कृति प्रेम को दिखाया और उत्तराखंड के कुमाऊं मंडल में अभिवादन के लिए बोला जाने वाला शब्द “पैलाग” अपने साथी से बुलवाया।  राजस्थानी भाई के मुंह से पैलाग बोलना बडा ही प्यारा लगा।

पवनदीप

फ़ोटो साभार -गूगल

इसके बाद हर एपिसोड में एक के बाद एक धमाकेदार परफॉर्मेंस दे रहे हैं पवनदीप, पिछले एपिसोड में लीक से हटकर गजल गा कर, प्रसिद्ध संगीतकार बप्पी लहरी   जी का दिल जीत लिया, उन्होंने पवन को  सोने की चैन भी गिफ्ट दी।
पवनदीप राजन सभी संगीत की लगभग हर विधा के जानकर हैं,उनका अलग अलग वाद्यों को बड़ी कुशलता से बजाना ,उनके समर्पित होनहार होने का प्रत्यक्ष प्रमाण है। सोनी tv पर एक मजाक में दिखाते हैं की,उनके गांव वाले बोल रहें “ओ पवनदीप वापस मत आना” अर्थात पावनदीप तुम इंडियन आइडल जीत कर ही आना  यहाँ भी देखें –

खबर का संदर्भ और अधिक जानकारी के लिए यहाँ भी देखें /
पहाड़ के पवनदीप ने इंडियन आइडल में दिखाया जलवा