मदरसों की जाँच , सीएम धामी
राज्य

मदरसों की गतिविधियों का होगा सर्वे: सीएम धामी

देहरादून। उत्तर प्रदेश की तर्ज पर उत्तराखंड में भी अब मदरसों की गतिविधियों का सर्वे किया जाएगा। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने बयान देते हुए कहा कि सभी मदरसों पर कड़ी नजर रखते हुए सर्वे की कार्रवाई की जाएगी। सीएम पुष्कर सिंह धामी जी ने चिंता जताते हुए कहा कि इनको लेकर लगातार शिकायतें आ रही हैं, ऐसे में इनकी जांच बहुत जरूरी हो गई है।

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी जी ने कहा कि उत्तराखंड में मदरसों के कामकाज, गतिविधियों को लेकर लगातार शिकायतें आ रही हैं। इन सभी शिकायतों को उत्तराखंड प्रशासन द्वारा गंभीरता से लिया जा रहा है। इसके लिए सभी मदरसों की जांच होगी। उत्तर प्रदेश की तर्ज पर सभी मदरसों का सर्वे किया जाएगा। ऐसे में उत्तराखंड में भी  सर्वे जरूरी हो गया है। इसके लिए जांच प्रक्रिया शुरू की जाएगी। मालूम हो कि मदरसों पर सीएम के बयान से पहले भाजपा के पूर्व प्रदेश प्रवक्ता एवं उत्तराखंड वक्फ बोर्ड के नवनियुक्त अध्यक्ष शादाब शम्स ने कहा है कि कलियर इलाके के कुछ होटलों और ढाबों में ड्रग्स, सेक्स रैकेट और मानव तस्करी हो रही है। लोगों के सहयोग से इनका सफाया किया जाएगा।

उत्तराखंड में वक्फ बोर्ड के अंतर्गत 103 जबकि मदरसा बोर्ड के अधीन 419 मदरसे हैं। इन सभी को सरकारी सहायता मिलती है। वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष शादाब शम्स ने कहा कि सर्वे की शुरुआत वक्फ बोर्ड के अधीन संचालित  मदरसो से होगी।

इन्हे भी पढ़े –

स्वरोजगार की जीती जागती मिसाल ,उत्तराखंड का पनीर गाँव | Paneer Village of Uttrakhand in hindi

उत्तराखंड परीक्षा घोटाले, पर उत्तराखंड में राजनीतिक समर्थकों की स्थिति।

स्यूनारकोट का नौला राष्ट्रीय महत्त्व का प्राचीन स्मारक घोषित। Syunarakot ka naula , declared national monument

गढ़वाल में कई जगहों के नाम के आगे “खाल” और कुमाऊं में “छीना” का मतलब

उत्तराखंड की खबरों और उत्तराखंड से जुड़े लेखों का नोटिफिकेशन के लिए जुड़े हमारे व्हाट्सप ग्रुप से।